Two Liner Shayari


Teri Mohabbat Ko Kabhi Khel Nahi Samjha,
Warna Khel To Itne Khele Hai Ki Kabhi Haare Nahi. 

तेरी मोहब्बत को कभी खेल नही समझा,
वरना खेल तो इतने खेले है कि कभी हारे नही।


Kuchh Alag Sa Hai Apni Mohabbat Ka Haal Hai,
Teri Chuppi Aur Mera Sawaal .

कुछ अलग सा है अपनी मोहब्बत का हाल है,
तेरी चुप्पी और मेरा सवाल।


Sab Ko Mohabbat Ke Gam Nahin Milte,
Tootne Waale Dil Hote Hain Khaas.

सब को मोहब्बत के ग़म नहीं मिलते,
टूटने वाले दिल होते हैं ख़ास।



Mohabbat Khoobasurat Hogi Kisi Aur Duniyaan Mein,
Idhar To Ham Par Jo Guzari Hai Ham Hi Jaante Hain.

मोहब्बत ख़ूबसूरत होगी किसी और दुनियाँ में
इधर तो हम पर जो गुज़री है हम ही जानते हैं



Teri Mohabbat Par Mera Haq To Nahi Magar Ai Sanam,
Jee Chahta Hai Ki Aakhiri Saans Tak Tera Intezar Karu.

तेरी मोहब्बत पर मेरा हक़ तो नही मगर ऐ सनम,
जी चाहता है क़ि आखिरी सांस तक तेरा इन्तजार करू।


Ab Kisi Aur Se Mohabbat Kar Loon Ai Sanam,
To Shikayat Mat Karna Ye Buri Aadat Bhi Mujhe Tumse Hi Lagi Hai.

अब किसी और से मोहब्बत कर लूं ऐ सनम,
तो शिकायत मत करना ये बुरी आदत भी मुझे तुमसे ही लगी है।


Aajkal Dekhabhal Kar Hote Hain Pyar Ke Saude,
Wo Daur Aur The Jab Pyar Andha Hota Tha.

आजकल देखभाल कर होते हैं प्यार के सौदे,
वो दौर और थे जब प्यार अन्धा होता था।


Usne Har Nasha Saamne Lakar Rakh Diya Aur Kaha,
Sabse Buri Lat Kaun Si Hain, Maine Kaha Tere Pyar Ki.

उसने हर नशा सामने लाकर रख दिया और कहा,
सबसे बुरी लत कौन सी हैं, मैने कहा तेरे प्यार की।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.